Ayodhya Airport: International Maharishi Valmiki Airport Today -उद्घाटन करेंगे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी।।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी 30 दिसंबर को अयोध्या हवाई अड्डे का उद्घाटन करने के लिए तैयार हैं।
22 जनवरी को राम मंदिर के अभिषेक समारोह से पहले, प्रधान मंत्री नए हवाई अड्डे और पुनर्निर्मित रेलवे स्टेशन का उद्घाटन करेंगे, जो दोनों भव्य से प्रेरणा लेते हैं

मंदिर और सांस्कृतिक लोकाचार को दर्शाते हैं। पीएम मोदी अयोध्या में नागरिक सुविधाओं के सुधार और विश्व स्तरीय बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 11,100 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं और उत्तर प्रदेश के अन्य हिस्सों के लिए 4,600 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का शुभारंभ करेंगे। Ayodhya Airport International Maharishi 30

शुरुआत कौन-कौन से सेक्टर के साथ होगा फ्लाइट्स की सुविधा कहां-कहां से मिलेगी Ayodhya Airport International Maharishi 30

Ayodhya Airport International Maharishi 30 से प्रधानमंत्री करेंगे उद्घाटनकुछ में कल के लिए आपके लिए थोड़ा सस्पेंस भी छोड़ना चाहता हूं पर पहले चरण में अगले 6 जनवरी को इंडिगो एयरलाइंस उड़ान भरेगी और अगले दो-तीन दिनों में और कई एयरलाइंस में हो देश के कई शहरों के साथ अयोध्या को जोड़ेंगे और उसके बाद 22 जनवरी से 1st फरवरी के बीच में दूसरे एयरलाइंस भी अलग-अलग कर्तव्य को अयोध्या के साथ जोड़ेंगे हमारी यही आशा है कि देश के चारों कोनों से श्रद्धालुओं को आवागमन सुगम तरीके से अयोध्या तक नगर विमान क्षेत्र से पहुंच पाए Ayodhya Airport International Maharishi 30   

Ayodhya Airport International Maharishi 30

अयोध्या में क्या क्या भव्य निर्माण कार्य किए जा रहे हैं International Airport के साथ

अयोध्या में श्री राम का भव्य मंदिर तैयार हो रहा है और इसी के साथ शहर में तेजी से विकास के कार्य भी हो रहा है एयरपोर्ट रेलवे स्टेशन और सड़कों के चौरीकरण का काम चल रहा है इसी क्रम में अयोध्या में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट लगभग तैयार हो चुका है जिसका निरीक्षण करने के लिए उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य पहुंचे की 22 जनवरी को पीएम भाग लेंगे तो वही 30 दिसंबर को पीएम मोदी एयरपोर्ट का उद्घाटन करेंगे तो वहीं अयोध्या में एक जनसभा को संबोधित करेंगे रेलवे की कई परियोजनाओं का भी लोकल पर कार्यक्रम करेंगे  Ayodhya Airport International Maharishi 30

21 जनवरी के लिए उड़ान टिकट की इतनी है कीमत

Ayodhya Airport International Maharishi 30
शहरयात्रा लागत (रुपये)
नई दिल्ली – अयोध्या 10,000 – 16,000
मुंबई – अयोध्या19,758 – 20,200
अहमदाबाद – अयोध्या18,500 – 20,000
कोलकाता  –  अयोध्या21,000 – 22,000
हैदराबाद  –  अयोध्या20,000
बेंगलुरु  –  अयोध्या22,000

इतने रुपए में मिल रहा 22 जनवरी का टिकट

List 1: Flights to Ayodhya on January 22, 2024:

  1. अहमदाबाद से अयोध्या: एकतरफा टिकट, लगभग 13,000-13,500 रुपये
  2. नई दिल्ली से अयोध्या: नियमित टिकट, लगभग 10,000-10,500 रुपये
  3. कोलकाता से अयोध्या: फ्लाइट टिकट, कीमत लगभग 15,000 रुपये
  4. मुंबई से अयोध्या: टिकट किराया, 14,700-15,300 रुपये 

List 2: Other Flight Ticket Prices:

  1. बेंगलुरु से अयोध्या: टिकट की कीमत, लगभग 16,000-17,000 रुपये
  2. हैदराबाद से अयोध्या: टिकट की कीमत, 15,500-16,000 रुपये
  3. भोपाल से अयोध्या: फ्लाइट टिकट, 13,300 रुपये तक

अयोध्या एअरपोर्ट की अधिक बिचित्र जानकारी पाए सबसे पहले

कौन सी बड़ी सुविधा हैं कब से यह आम लोगों के लिए शुरू होगा कौन-कौन से रूट सबसे पहले शुरू होंगे और क्या सुविधा मिलने वाली है सपोर्ट के साथ अयोध्या वासियों को देशवासियों को

कल एक बहुत महत्वपूर्ण दिन है जब प्रधानमंत्री जी के कार्यक्रमों के आधार पर उनका जो संकल्प था कि अयोध्या आदिवासियों को देश के साथ और विश्व के साथ हमें जोड़ना होगा कल अयोध्या का विमानतल का उद्घाटन प्रधानमंत्री जी के कार्यक्रमों के द्वारा किया जा रहा है  Ayodhya Airport International Maharishi 30  अयोध्या का विमानतल  6500 स्क्वायर मीटर के क्षेत्रफल में बनाया जा रहा है

और इसमें जो महत्वपूर्ण कड़ी है कि प्रधानमंत्री जी ने सदैव कहा है कि भारत की क्षमता केवल एक आदमी शक्ति के रूप में नहीं लेकिन भारत की क्षमता एक आध्यात तो हमारे जितने भी विमानतल होते हैं क्योंकि वह पहले प्रवेश द्वार होते हैं देश के या विदेश के जो भी वैसी होते हैं

जो नगर विमान से अपना सफर तय करते होते हैं वह पहले द्वारा होता है उनका अनुभव का तो उसे क्षेत्र का की संस्कृति क्षेत्र की कला उसे क्षेत्र की एक इतिहास की झलक उसे विमानतल में जरूर देखनी चाहिए और अयोध्या का विमानतल भी मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम के मंदिर की आकार के रूप में बनाया गया है दोनों और साइड में भी और सिटी साइड में भी उसके अंदरूनी भाग में अगर हम जाएं तो भारतीय संस्कृति के आधार पर भगवान राम की पूरी जीवन रेखा को रेखांकित दीवारों पर किया गया है  Ayodhya Airport International Maharishi 30

प्रधानमंत्री जी ने अपनी आकर्षण के लिए प्रभू श्री राम के जीवन चरित्र को दर्शाया Ayodhya Airport International Maharishi 30

अलग-अलगके द्वारा जहां एक तरफ मधुबनी मधुबनी के कल के द्वारा किया गया है वहीं पति चित्र के द्वारा कलमकारी के द्वारा राजा रवि वर्मा के लिए क्षमता के आधार पर अनेक अनेक दृश्य भाव बनाए गए और अयोध्या के दीपक महोत्सव का भी एक जाकर वहां बनाया गया है

तो मुझे विश्वास है कि प्रधानमंत्री जी के जो सोच विचारधारा है कि लोकल और लोकल का ग्लोबल उसी के आधार पर जो यह विमानतल बनाया गया है पूर्ण सुविधा आधुनिक सुविधा दी हमारे सभी जातियों को दिखाएगा शुरू करने वाले हैं  Ayodhya Airport International Maharishi 30 

 

जहां रनवे की लंबाई को हम 3700 मीटर तक ले जाएंगे ताकि बड़े विमान भी वहां प्रस्थान कर पाए और सेकंड टर्मिनल भी जो वर्तमान का टर्मिनल 50000 स्क्वायर मीटर का मतलब 5 लाख स्क्वायर फीट का बनेगा वर्तमान का टर्मिनल की क्षमता 10 लाख यात्री प्रति साल का है और द्वितीय भाग का टर्मिनल करीब 60 लाख यात्री प्रति वर्ष का होगा  Ayodhya Airport International Maharishi 30

Ayodhya Airport International Maharishi 30 की बनाबट कैसी है क्या क्या भव्य चित्र दर्शाए गए हैं

अयोध्या में भव्य राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा का काउंटडाउन शुरू हो गया है  Ayodhya Airport International Maharishi 30  अगले साल 22 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस भव्य मंत्र का उद्घाटन करेंगे लेकिन इससे पहले 30 दिसंबर को प्रधानमंत्री मोदी अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन का उद्घाटन करने जा रहे हैं

Ayodhya Airport International Maharishi 30  हालांकि अब इस एयरपोर्ट का नाम महर्षि वाल्मीकि एयरपोर्ट होगा उद्घाटन के ठीक पहले अयोध्या रेलवे स्टेशन को अयोध्या धाम जंक्शन किया गया और उसके बाद अब

श्रीराम एयरपोर्ट को महर्षि वाल्मीकि एयरपोर्ट कर दिया गया है उनके नाम बदल दिया गया है ऑपरेशन होने वाला है सब इस वीडियो में जानते हैं

अगले साल राम मंदिर को ऑफीशियली आमजन के लिए खोल दिया जाएगा जिसकी वजह से अयोध्या नगरी में बड़े पैमाने पर हिंदू तीर्थ यात्रियों की भीड़ करने की उम्मीद है

Ayodhya Airport International Maharishi 30  ऐसे में रामनगरी में एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन की बहुत सरकार थी कहा जा रहा है कि यह नवनिर्मित महर्षि वाल्मीकि एयरपोर्ट अयोध्या मंदिर तक पहुंचाने का सबसे बड़ा जरियाहोगा अयोध्या एयरपोर्ट के टर्मिनल को भी बहुत भव्य तरीके से बनाया गया है राम की नगरी में बना रहे एयरपोर्ट की एक बड़ी खासियत यह भी है कि इस मंदिर के तर्ज पर बनाया गया है रामायण से जुड़े बहुत ही महत्वपूर्ण चित्रों को दर्शाया गया है

एयरपोर्ट का वास्तु और डिजाइन बहुत खास है यह पूरी तरह से श्रीराम के जीवन से प्रेरित है अयोध्या के इस एयरपोर्ट को नगर शैली में तैयार किया गया है इसे आर्किटेक्ट विपुल भूषण ने और उनकी टीम ने तैयार किया है

यह एयरपोर्ट के साथ शिखर नगर शैली से इंस्पायर्ड है में शिखर बीच में और आगे तीन और पीछे तीन शिकार है 

Ayodhya Airport International Maharishi 30   नागर शैली उत्तर भारत के मंदिर शैली है इसके अलावा एयरपोर्ट पर राम को हर जगह दिखाने की कोशिश की गई है बाहर तीन धनुष का बड़ा मुरल भी लगाया गया है

यह एयरपोर्ट 7 पिलर्स पर मेजर्ली टिका हुआ है जो रामायण के साथ कांडों से प्रेरित है इन पिलर्स पर आकृति और सजावट भी उसी तरह से की गई है न्यूरल को तैयार करने के लिए अयोध्या के साधु संतपुराण का भी अध्ययन किया गया है एयरपोर्ट में एक सबसे बड़ा न्यूरल हनुमान को समर्पित किया गया है

इसमें हनुमान के जन्म से अयोध्या में राम की आज्ञा के मुताबिक उनके स्थापित होने तक का पूरा चित्रण है इसके अलावा तीन मंजिला ऊंचा राम दरबार और मधुबनी पेंटिंग में बना सीताराम विवाह का चित्रण भी मुख्य आकर्षणों में से एक है

30 दिसंबर को इंडिगो और एयर इंडिया एक्सप्रेस इस नए एयरपोर्ट की उद्घाटन उड़ान संचालित करेंगे दोनों ही एयरलाइंस पहले ही दिल्ली मुंबई और अहमदाबाद से अयोध्या तक की हवाई सर्विस का ऐलान कर चुकी है यह हवाई सेवा जनवरी 2024 से शुरू होगी एयरपोर्ट के पहले पेज में लागत तकरीबन 1450 करोड रुपए बताई जा रही है नई टर्मिनल बिल्डिंग कल 6500 वर्ग मीटर क्षेत्र में बनी हुई है

इस एयरपोर्ट की क्षमता सलामत 10 लाख पैसेंजर की है तो कल 30 दिसंबर को इसका इनॉग्रेशन पीएम मोदी करने वाले हैं Ayodhya Airport International Maharishi 30

आखिर 7 स्तंभ ही क्यो लिए किसकी पहचान करवाते है international Airport पर

जब आप देखेंगे तो 7 स्तंभ है और काफी मैसिव है काफी बड़े हैं और वह सबसे पहले दिखते हैं तो वह हमारी बाल्मीकि रामायण के साथ कांड है उनको दर्शाते हैं और उन पर अलग-अलग पत्रिकाएं हैं जो पत्रिकाएं हैं

उसमें जो कि संसार में है जब श्री राम ने जन्म लिया उसे समय जब धर्म का सर्वोच्च स्थान मिला और उसके साथ में क्षणभंगुर संसार वह हमारा खंडकाव्य दिखती है तो दो तरह की पत्रिकाओं को अलग-अलग डिजाइन करके हमने स्तंभ पर दिखाया उसके अलावा द्वारपाल पट्टी का है कमल दलपति का है तो यह अलग-अलग फिलासफी है उसको दर्शाती है उसके दर्शन को दर्शाती है  Ayodhya Airport International Maharishi 30