नई दिल्ली Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM : भारतीय जनता पार्टी के संस्थापक और पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी को भारत रत्न दिया जाएगा। पीएम नरेंद्र मोदी ने इसका ऐलान करते हुए एक्स यानी ट्विटर पर पोस्ट किया।Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM

 

उन्होंने कहा कि वह इस सम्मान का ऐलान करते समय भाग्यशाली महसूस कर रहे हैं। बीजेपी के पितामह कहे जाने वाले इस साल यह सम्मान पाने वाले दूसरे व्यक्ति हैं। उनसे पहले बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कपूर्री ठाकुर को 26 जनवरी को भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM

भारत रत्न भारत का सबसे बड़ा नागरिक सम्मान

भारत रत्न भारत का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है। यह सम्मान 2 जनवरी 1954 को स्थापित किया गया था। तब से यह सम्मान ‘मानव प्रयास के किसी भी क्षेत्र’ में योगदान के लिए 26 जनवरी को दिया जाता है।Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM

 

भारत रत्न के लिए सिफारिशें प्रधानमंत्री द्वारा राष्ट्रपति को की जाती हैं। इसमें प्रति वर्ष अधिकतम 3 व्यक्तियों को पुरस्कार देने का प्रावधान है। सम्मानित व्यक्ति को राष्ट्रपति द्वारा हस्ताक्षरित एक सनद (सर्टिफिकेट) और एक पीपल के पत्ते के आकार का पदक मिलता है। यह सम्मान 13 जुलाई 1977 से 26 जनवरी 1980 तक निलंबित भी किया गया था।

Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM

मुझे यह बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि लालकृष्ण आडवाणी जी को भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा। मैंने भी उनसे बात की और इस सम्मान से सम्मानित होने पर उन्हें बधाई दी। हमारे समय के सबसे सम्मानित राजनेताओं में से एक, भारत के विकास में उनका योगदान अविस्मरणीय है।Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM

 

उनका जीवन जमीनी स्तर पर काम करने से शुरू होकर हमारे उपप्रधानमंत्री के रूप में देश की सेवा करने तक का है। उन्होंने हमारे गृह मंत्री और सूचना एवं प्रसारण मंत्री के रूप में भी अपनी पहचान बनाई। उनके संसदीय हस्तक्षेप हमेशा अनुकरणीय और समृद्ध अंतर्दृष्टि से भरे रहे हैं।Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM

ओवैसी को आडवाणी को भारत रत्न देने के फैसले में खामी नजर आई

Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM

यह आरोप लगाते हुए कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी की Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM

 

‘रथ यात्रा’ जहां भी गई थी, वहां दंगे हुए थे, एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने शनिवार को दावा किया कि उन्हें भारत रत्न से सम्मानित करना एक “गलत निर्णय” था। पत्रकारों से बात करते हुए, ओवैसी ने दंगों में हुई मौतों की संख्या पर कथित आंकड़ों का हवाला दिया।

उन्होंने कहा, “जहां-जहां लालकृष्ण आडवाणी की रथ यात्रा गई, वहां-वहां हिंदू-मुस्लिम उपद्रव हुआ, मानवता मर गई। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि नरेंद्र मोदी की सरकार उन्हें सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार दे रही है।”Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM

उन्होंने कहा, पाकिस्तान यात्रा के दौरान आडवाणी ने देश के बंटवारे के लिए जिम्मेदार एमए जिन्ना की तारीफ की थी। ओवैसी ने कहा, “बाबरी मस्जिद की शहादत उनकी (आडवाणी) उपस्थिति में हुई थी। जब वह गृह मंत्री थे, तो 2002 के दंगे हुए थे। हम इसे एक गलत निर्णय मानते हैं।”

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लालकृष्ण आडवाणी से बात की, उन्हें भारत रत्न के लिए बधाई दी-

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी से फोन पर बात की और उन्हें भारत रत्न मिलने की घोषणा के बाद बधाई दी। कुमार ने

 

राष्ट्र निर्माण में उनके योगदान को प्रेरणादायक बताते हुए साझा किया कि उन्हें अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में आडवाणी के साथ काम करने का अवसर मिला था।Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM

 

मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान में कहा गया, “केंद्र सरकार द्वारा उन्हें भारत रत्न पुरस्कार से सम्मानित करने के फैसले के लिए मुख्यमंत्री ने आडवाणी जी को शुभकामनाएं दीं। उन्होंने फोन पर आडवाणी जी से बात की और उन्हें हार्दिक बधाई दी।

Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM

किन 3 व्यक्तियों को मिला था पहला भारत रत्न-

आजाद भारत के पहले गवर्नर-जनरल और तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री सी राजगोपालाचारी, दूसरे

राष्ट्रपति और भारत के पहले उपराष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन और नोबेल पुरस्कार विजेता और भौतिक वैज्ञानिक सीवी रमन को 1954 में सम्मानित किया गया था।

 

उस समय देश के राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद थे। अब तक 50 व्यक्तियों को यह सम्मान मिल चुका है।

 

शुरुआत में यह सिर्फ जीवित व्यक्तियों के लिए था, लेकिन 1955 में नियमों में सुधार किया गया।

सार्वजनिक जीवन में आडवाणी जी की दशकों लंबी सेवा को पारदर्शिता और अखंडता के प्रति अटूट प्रतिबद्धता द्वारा चिह्नित किया गया है, जिसने राजनीतिक नैतिकता में एक अनुकरणीय मानक स्थापित किया है।Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM

 

उन्होंने राष्ट्रीय एकता और सांस्कृतिक पुनरुत्थान को आगे बढ़ाने की दिशा में अद्वितीय प्रयास किए हैं। उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया जाना मेरे लिए बहुत भावुक क्षण है। मैं इसे हमेशा अपना सौभाग्य मानूंगा कि मुझे उनके साथ बातचीत करने और उनसे सीखने के अनगिनत अवसर मिले।Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM

भारत रत्न से वीआईपी का दर्जा Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM

भारत रत्न से सम्मानित व्यक्ति देश वीआईपी में शामिल होता है। भारत रत्न को प्रोटोकॉल में राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, उप प्रधानमंत्री, मुख्य न्यायाधीश,Bharat ratna for lalKrishna Advani 2024 PM

 

लोकसभा स्पीकर, कैबिनेट मंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री, पूर्व राष्ट्रपति, पूर्व प्रधानमंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री, संसद के दोनों सदनों में विपक्ष के नेता के बाद जगह मिलती है। भारत रत्न से सम्मानित व्यक्ति को कोई राशि नहीं मिलती, लेकिन कैबिनेट मंत्री बराबर वीआईपी का दर्जा मिलता है।

भारत रत्न से सम्मानित व्यक्ति को क्या-क्या मिलता है

पीपल के पत्ते के आकार का पदक
भारत के राष्ट्रपति द्वारा हस्ताक्षरित एक सनद (प्रमाणपत्र)
कैबिनेट मंत्री के बराबर वीआईपी का दर्जा, जबकि किसी राज्य में जा रहे हैं तो राज्य अतिथि का दर्जा भी मिलता है
स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के कार्यक्रमों में विशेष अतिथि के तौर पर शामिल हो सकते हैं
भारत रत्न से सम्मानित व्यक्ति को हवाई जहाज (एग्जीक्यूटिव क्लास), ट्रेन और बस में निशुल्क यात्रा की छूट
राजनयिक पासपोर्ट का अधिकार
भारतीय वरीयता क्रम में सातवें स्थान पर रखा गया और राज्य सरकारें विशेष सुविधाएं उपलब्ध कराती हैं

Valentine Day 14 Feb Gift Under 500 Me Girlfriend और बॉयफ्रेंड के लिए इतना शानदार गिफ्ट